अयोध्या : MP संजय सिंह के घर पर ‘हमला, बोले- मेरी हत्या क्यों न हो जाए, मंदिर का चंदा चोरी नहीं होने दूंगा

0
393
अयोध्या : MP संजय सिंह के घर पर ‘हमला, बोले- मेरी हत्या क्यों न हो जाए, मंदिर का चंदा चोरी नहीं होने दूंगा

नई दिल्‍ली. आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह (MP Sanjay Singh) के सरकारी आवास पर हमला होने से सनसनी फैल गई है. आप सांसद ने कहा कि मेरे घर पर 4-5 लोगों ने तोड़फोड़ करने के साथ कालिख पोती है. उन्‍होंने ट्वीट करके इस घटना की जानकारी देते हुए कहा कि मेरे घर पर हमला हुआ है. कान खोलकर सुन लो भाजपाइयों चाहे जितनी गुंडागर्दी कर लो प्रभु श्री राम के नाम पर बनने वाले मंदिर में चंदा चोरी नहीं करने दूंगा. भले ही इसके लिए मेरी हत्या हो जाये.

यही नहीं, आम आदमी पार्टी सांसद ने वीडियो ट्वीट कर कहा कि मैं अभी अपने नॉर्थ एवेन्यू वाले घर पर हूं. अभी मेरे घर पर हमला हुआ है. मैं साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि बीजेपी सरकार और उनके गुंडों से आप जितने चाहे हमले करवा लें, लेकिन राम मंदिर का चंदा चोरी करोगे तो एक नहीं एक हजार बार बोलूंगा. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि यह 115 करोड़ हिंदुओं का अपमान है और चंदा चोरों को पकड़ कर जेल में डाला जाना चाहिए.

नई दिल्‍ली के डीसीपी दीपक यादव के मुताबिक, आप सांसद के घर पर कालिख पोतने के दो लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ जारी है. जबकि घर पर लगी नेमप्‍लेट पर कालिख पोतने के दौरान किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है

संजय स‍िंह ने लगाए ये हैं आरोप
आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए उसकी जांच सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से कराने की मांग की थी. सिंह ने लखनऊ में दावा किया था कि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संस्था के सदस्य अनिल मिश्रा की मदद से दो करोड़ कीमत की जमीन 18 करोड़ रुपये से अधिक में खरीदा. उन्होंने कहा था कि यह सीधे-सीधे धन शोधन का मामला है और सरकार इसकी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से जांच कराए.

चंपत राय ने कही ये बात

राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने विवाद को लेकर कहा कि जितना क्षेत्रफल है उसकी तुलना में इस भूमि का मूल्य 1423 रुपये प्रति वर्ग फीट है जो बाजार मूल्य से बहुत कम है. मालिकाना हक का निर्णय करना बहुत जरूरी था जो कराया गया. हमने जमीन का एग्रीमेंट करा लिया और अभी बैनामा कराया जाना बाकी है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सभी लेनदेन बैंक टू बैंक हुए हैं और टैक्स में कोई चोरी नहीं की गई है. दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोप लगाने वालों ने आरोप से पहले ट्रस्ट के पदाधिकारियों से तथ्यों की जानकारी नहीं ली. उन्होंने समाज को भ्रमित किया है. भ्रमित न हों और मंदिर समय सीमा में पूरा करने में सहयोग करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here