“इस तरह से मेरा अपमान न करें” : मीटिंग को लेकर विवाद के बाद PM से बोलीं ममता बनर्जी

0
195
“इस तरह से मेरा अपमान न करें” : मीटिंग को लेकर विवाद के बाद PM से बोलीं ममता बनर्जी

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि इस तरह से मेरा अपमान न करें. ममता ने कहा, “हमें प्रचंड जीत मिली है इसलिए आप ऐसा व्यवहार कर रहे हैं? आपने सब कुछ करने की कोशिश की और हार गए. हमारे साथ हर दिन झगड़ा क्यों कर रहे हैं?” 

कोलकाता: 

चक्रवात यास (Cyclone Yaas) के असर का जायजा लेने बंगाल गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के कथित रूप से देर से पहुंचने को लेकर खड़ा हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. बीजेपी (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जुबानी जंग के बीच अब बंगाल की मुख्यमंत्री ने खुद जवाब दिया है. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि इस तरह से मेरा अपमान न करें. ममता ने कहा, “हमें प्रचंड जीत मिली है इसलिए आप ऐसा व्यवहार कर रहे हैं? आपने सब कुछ करने की कोशिश की और हार गए. हमारे साथ हर दिन झगड़ा क्यों कर रहे हैं?”

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बंगाल के पश्चिम मिदनापुर जिले के कलाईकुंडा एयर बेस में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ 15 मिनट की बैठक की. बैठक में चक्रवात यास से हुए नुकसान का आकलन किया गया. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीएम ममता का लगभग 30 मिनट का इंतजार करना पड़ा. ममता बनर्जी पीएम से मिलीं और दस्तावेज सौंपने के बाद वहां से चली गईं. इसके बाद से भाजपा ममता बनर्जी पर हमलावर है. भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने ममता बनर्जी पर प्रधानमंत्री के पद का अपमान करने का आरोप लगाया है. राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, सुवेंदु अधिकारी समेत कई भाजपा नेताओं ने ममता बनर्जी पर पीएम पद का आपमान करने का आरोप लगाया है.

केंद्र सरकार ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने राज्य के लोगों के कल्याण के प्रति कठोर, अभिमानी और सर्वोच्च रूप से बेपरवाह हैं. उन्होंने अपने तुच्छ व्यवहार से संघवाद को झटका दिया है राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी पर सीधे प्रधानमंत्री का “बहिष्कार” करने का आरोप लगाया है

चक्रवात यास ने इस सप्ताह के शुरुआत में पश्चिम बंगाल और पड़ोसी राज्य ओडिशा के तटीय इलाकों को काफी नुकसान पहुंचाया है. अप्रैल-मई के विधानसभा चुनाव के बाद पीएम मोदी और सीएम ममता बनर्जी की यह पहली बैठक थी. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को हराने के लिए भाजपा ने सारे हथकंडे अपनाए थे. इसके बावजूद भी ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में बड़ी जीत हासिल की. कई सांसदों, विधायकों और मंत्रियों के इस्तीफे के बाद भी ममता बनर्जी की पार्टी ने राज्य में अपना परचम लहराया

समीक्षा बैठक से पहले ममता बनर्जी ने कहा, “मैं सिर्फ 15 मिनट के लिए वहां जाऊंगी. मैं समीक्षा बैठक के लिए वहां नहीं रहूंगी. मैं नुकसान के विवरण के साथ एक पेपर सौंप दूंगी.” बता दें कि आखिरी बार पीएम मोदी और ममता बनर्जी की मुलाकात 23 जनवरी को कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर हुई थी. उस शाम ममता बनर्जी के भाषण के बीच “जय श्री राम” के नारे लगने लगे थे. तब वे गुस्से में अपना भाषण पूरा किए बिना ही मंच से चली गईं थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here