चंडीगढ़.पावर कट को लेकर AAP का हल्ला बोल घेरा सीएम का फार्महाउस बैरिकेड भी तोड़े

0
216
चंडीगढ़.पावर कट को लेकर AAP का हल्ला बोल घेरा सीएम का फार्महाउस बैरिकेड भी तोड़े

चंडीगढ़. पंजाब में बिजली का संकट गहराता ही जा रहा है. जिसके चलते कैप्टन सरकार के खिलाफ जबरदस्त मोर्चाबंदी भी जारी है. बीते शुक्रवार को शिरोमणि अकाली दल के धरनों के बाद शनिवार को आम आदमी पार्टी ने सूबे में लगाए जा रहे पावर कट को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह के मोहाली स्थित सिस्वां फार्म हाउस का घेराव करने की कोशिश. आम आदमी पार्टी के नेता भगवंत मान के नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ताओं ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के फार्महाउस का घेराव करने की कोशिश की. हालांकि पुलिस ने आप कार्यकर्ताओं को मोहाली में ही रोक दिया.

कार्यकर्ताओं ने इस दौरान बेरिकेड्स को तोड़ने का प्रयास भी किया लेकिन पुलिस ने उन्हें वाटर कैनन का प्रयोग कर एक ही जगह पर ठहरने को मजबूर कर दिया.

प्रदर्शन कर रहे आप नेता भगवंत मान ने कहा कि वर्तमान में कैप्टन सरकार पूर्व अकाली सरकार के समय में किए गए बिजली के समझौतों को रद्द नहीं कर पाई है, जिसका खामियाजा पंजाब के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. पंजाब के किसान, मजदूर, कारोबारी, उद्योगपति, कर्मचारी, विद्यार्थी और हर वर्ग पावर कट के कारण भारी परेशानियों का सामना कर रहा है. उन्होंने कहा कि समझौतों के मुताबिक प्राइवेट थर्मल कंपनियां अपनी मर्जी से थर्मल प्लांट बंद रख सकती हैं और थर्मल प्लांट बंद होने पर पंजाब सरकार की ओर से थर्मल प्रबंधकों को फिक्स चार्ज देना पड़ता है.

उन्होंने बताया कि अब तक करीब 20,000 करोड़ रुपए फिक्स चार्ज के तौर पर प्राइवेट बिजली कंपनियों को दिए जा चुके हैं. मान ने शिरोमणि अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी की तत्कालीन सरकार को भी बिजली संकट के लिए जिम्मेदार ठहराया है. उनका कहना है कि अकालियों की सरकार के समय में प्राइवेट बिजली कंपनियों के साथ गलत समझौते किए गए हैं. उन्होंने कहा कि पंजाब में आप की सरकार बनने पर बिजली का नया मॉडल तैयार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आप की सरकार बनने पर कंपनियों के साथ किए गलत समझौतों की जांच की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here