चक्रवाती तूफान Tauktae तो चला गया लेकिन पीछे छोड़ गया तबाही का मंजर

0
169
चक्रवाती तूफान Tauktae तो चला गया लेकिन पीछे छोड़ गया तबाही का मंजर

विशेषज्ञों का कहना है कि ग्लोबल वार्मिंग का असर अरब सागर पर दिख रहा है और आने वाले दिनों में ऐसे और तूफान शहर के करीब आ सकते हैं.

मुंंबई: 

चक्रवाती तूफान ताउते (Cyclone Tauktae) का असर मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में सोमवार के बाद मंगलवार के दिन भी देखने मिला. अरब सागर में बहे बार्ज (Barge/बड़ी नौका) P305 से लोगों को बचाने का काम भी दिन भर जारी रहा. सोमवार दोपहर मुंबई के करीब अरब सागर में जब चक्रवाती तूफान ताउते गुज़र रहा था, तो इसका असर अरब सागर में मौजूद दो बार्ज पर पड़ा जिसमें कुल 410 लोग थे. बार्ज P305 मुंबई हाई में फंस गया था जिसमें करीब 273 लोग सवार थे. इसे बचाने के लिए आईएनएस कोच्चि और आईएनएस कोलकाता को भेजा गया, लेकिन समुद्र में आए तूफान के कारण बार्ज P305 डूब गया. मंगलवार शाम तक नौसेना ने कुल 180 लोगों को बचा लिया था जिसमें जहाज़ में कुक का काम करने वाले रविन्द्र सिंह भी शामिल हैं

नौसेना ने तो साहस दिखाकर कई लोगों की जान बचा ली, लेकिन सवाल है कि ONGC में यह चूक किसने की? मौसम विभाग के विशेषज्ञों का कहना है कि 130 साल में पहली बार मुंबई में इतनी तेज हवाएं चली हैं. अब सवाल मौसम विभाग की तैयारियों को लेकर भी उठ रहे हैं. सूत्रों ने बताया कि तूफान के दिन मौसम विभाग का राडार काम नहीं कर रहा था जिसकी वजह से मौसम विभाग ने पहले ऑरेंज और बाद में रेड अलर्ट दिया. अब यह सवाल उठ रहा है कि क्या मौसम विभाग की गलती के वजह से समुद्र में बार्ज डूब गया. मौसम विभाग के अधिकारी इस पर जवाब देने से बचते दिखे

Cyclone Tauktae के कारण मुंबई के अलग-अलग जगहों पर पेड़ गिरने की तस्वीरें सामने आईं तो वहीं विक्रोली में पेड़ गिरने के कारण महिला बाल-बाल बची. पिछले एक साल में यह दूसरा बड़ा तूफान है, जिसका असर मुंबई पर पड़ा. विशेषज्ञों का कहना है कि ग्लोबल वार्मिंग का असर अरब सागर पर दिख रहा है और आने वाले दिनों में ऐसे और तूफान शहर के करीब आ सकते हैं. विशेषज्ञ महेश पलावत कहते हैं, ‘समुद्र गरम हो रहा है और भविष्य में ऐसे और तूफान आ सकते हैं.’ ताउते के कारण हुई तबाही से जहां शहर उबर रहा है तो वहीं यह सवाल भी उठा है कि भविष्य में इस तरह के तूफान से बचने के लिए क्या मुंबई तैयार है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here