जामिया के कब्रिस्तान में दफनाया जाएगा दानिश सिद्दीकी का शव कई गोलियां लगने से हुई थी मौत

0
282
जामिया के कब्रिस्तान में दफनाया जाएगा दानिश सिद्दीकी का शव कई गोलियां लगने से हुई थी मौत

नई दिल्ली. अफगानिस्तान में मारे गए पुलित्जर पुरस्कार विजेता फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की मौत बंदूक की कई गोलियां लगने से हुई थी. काबुल स्थित भारतीय दूतावास ने रविवार को सिद्दीकी मृत्यु प्रमाण पत्र मिलने के बाद इस बात की पुष्टि की. दानिश के शव को दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. सिद्दीकी का पार्थिव शरीर काबुल से एयर इंडिया की उड़ान के जरिए रविवार शाम 5.40 बजे पहुंचने की उम्मीद है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के लिए काम करने वाले 39 वर्षीय सिद्दीकी जामिया विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र थे. विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा, ‘‘जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति ने फोटो पत्रकार दानिश सिद्दिकी के परिवार की उनके शव को विश्वविद्यालय के कब्रिस्तान में दफनाने के अनुरोध को स्वीकार कर लिया है. यह कब्रिस्तान विशेष तौर पर विश्वविद्यालय के कर्मचारियों, उनके जीवनसाथी और नाबालिग बच्चों के लिए बनाया गया है

सिद्दिकी ने इस विश्वविद्यालय से परास्नातक की उपाधि प्राप्त की थी और उनके पिता अख्तर सिद्दिकी विश्वविद्यालय में शिक्षा संकाय के डीन थे. सिद्दिकी ने वर्ष 2005-2007 में एजेके मास कम्युनिकेशन सेंटर (एमसीआरसी) से पढ़ाई की थी.

पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित थे सिद्दीकी
वहीं, जामिया शिक्षक संघ ने सिद्दिकी के निधन पर शोक व्यक्त किया है. बता दें, सिद्दिकी को वर्ष 2018 में समाचार एजेंसी रॉयटर के लिए काम करने के दौरान पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और गत शुक्रवार को पाकिस्तान की सीमा से लगते अफगानिस्तान के कस्बे स्पीन बोल्दक में उनकी हत्या कर दी गई थी. हत्या के समय वह अफगान विशेष बल के साथ जुड़े थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here