ट्विटर , नए आईटी नियमों के अनुपालन का मुद्दा लगातार नए विवादों में घिरता जा रहा है

0
122
ट्विटर , नए आईटी नियमों के अनुपालन का मुद्दा लगातार नए विवादों में घिरता जा रहा है

नई दिल्ली: 

ट्विटर द्वारा नए आईटी नियमों के अनुपालन  का मुद्दा लगातार नए विवादों में घिरता जा रहा है. नए आईटी नियमों का पूरी तरह पालन न करने के आरोपों से घिरे ट्विटर को रविवार झटका लगा, जब सोशल मीडिया कंपनी के अंतरिम शिकायत अधिकारी ने इस्तीफा (Twitter’s Interim Grievance Redressal Officer Quits)  दे दिया. नए IT नियमों के पालन के लिए इसी माह उनकी नियुक्ति हुई थी. दरअसल, ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच करीब एक माह से कई मुद्दों को लेकर टकराव चल रहा है. एक दिन पहले ही आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद (IT Minister Ravi Shankar Prasad) और आईटी मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष शशि थरूर का ट्विटर अकाउंट करीब एक घंटे तक बंद रहा.

इससे पहले ट्विटर से कई आरएसएस नेताओं के वेरिफाइड अकाउंट से ब्लू टिक (Twitter Blue Tick) हटाने का मामला सामने आया था. इसके बाद सरकार ने ट्विटर को कड़ी चेतावनी दी थी और आईटी नियमों का पूरी तरह से पालन करने को कहा था. हालांकि ट्टिवर ने कुछ घंटों के बाद ज्यादातर ट्विटर खातों पर ब्लू टिक बहाल कर दिया.

नए आईटी नियमों का अक्षरशः पालन न करने से ट्विटर को उसके प्लेटफॉर्म पर किसी आपत्तिजनक सामग्री साझा किए जाने पर कानूनी कार्रवाई से मिलने वाली छूट भी खत्म हो गई है. ट्विटर इंडिया के प्रमुख (Twitter India Head) को गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग के साथ हुई बदसलूकी के मामले में पूछताछ के लिए यूपी पुलिस ने नोटिस भी भेजा है, हालांकि वो आमने-सामने की पूछताछ की जगह वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये ही जांच में शामिल होना चाहते हैं. ट्विटर इंडिया के प्रमुख को अदालत से राहत मिल भी गई है.

ट्विटर को 26 मई तक आईटी नियमों का पूरी तरह से पालन करना था, लेकिन वह इस समयसीमा के भीतर भारत के आईटी नियमों का पालन नहीं कर पाया था. ट्विटर के अधिकारी संसदीय समिति के समक्ष भी पेश हुए थे, जिन्हें समिति के सदस्यों ने आईटी नियमों का पालन करने की हिदायत भी दी थी. इससे पहले किसान आंदोलन के दौरान टूल किट केस में ट्वटिर और केंद्र के बीच तीखे मतभेद देखने को मिला था. उसके बाद कथित तौर पर कांग्रेस की टूल किट के मामले में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्ववीट को मैनुपलटेड का टैग देने को लेकर भी विवाद सामने आया. 

सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट (Social Networking Websites)के लिए नए आईटी नियमों के तहत ट्विटर को भारत में रहने वाले एक शिकायत निवारण अधिकारी की नियुक्ति करनी थी. साथ ही सेवा शर्तों का भी पालन करना है. ट्विटर ने इस कारण कानूनी कार्रवाई से मिलने वाला सुरक्षा कवच भी खो चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here