दिल्ली सरकार स्पूतनिक वी वैक्सीन खरीदेगी, डॉ. रेड्डीज से साधा संपर्क : अरविंद केजरीवाल

0
143
दिल्ली सरकार स्पूतनिक वी वैक्सीन खरीदेगी, डॉ. रेड्डीज से साधा संपर्क : अरविंद केजरीवाल

कोरोना (Coronavirus) से जारी जंग के बीच अब दिल्ली सरकार (Delhi Govt) की नजर रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी (Sputnik-V) पर है. सीएम केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि स्पूतनिक वैक्सीन का भारत में निर्माण करने वाली कंपनी डॉ. रेड्डी से संपर्क किया गया है

नई दिल्ली: 

कोरोना (Coronavirus) से जारी जंग के बीच अब दिल्ली सरकार (Delhi Govt) की नजर रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी (Sputnik-V) पर है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि दिल्ली सरकार ने स्पूतनिक वैक्सीन का भारत में निर्माण करने वाली कंपनी डॉ. रेड्डी से संपर्क किया है. वैक्सीन की खरीद के संबंध में डॉ रेड्डी को पत्र लिखा गया है. हालांकि उनकी तरफ से ठोस जवाब नही आया है. हमने लिखा है कि कितनी वैक्सीन वो दे सकते हैं और कब तक दे सकते हैं. दिल्ली में कोविड कमांड सेंटर के उद्घाटन के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्पूतनिक वैक्सीन पर पूछे गए सवालों के जवाब में यह जानकारी दी.

कमांड सेंटर के बारे में सीएम केजरीवाल ने बताया कि इस कमांड सेंटर से कोरोनावायरस संबंधित अलग-अलग तरह का डाटा रियल टाइम बेसिस पर कैप्चर किया जाएगा. रियल टाइम का मतलब यह है कि अभी इस वक्त कहां पर क्या चल रहा है, वह यहां पर कैप्चर होगा. जैसे अगर हम ऑक्सीजन की बात करें तो इस वक्त किस अस्पताल में कितनी ऑक्सीजन है, कौन सा हमारा ऑक्सीजन का टैंकर निकल चुका है. वह कहां पहुंचा है, उसकी जीपीएस से ट्रैकिंग होगी.

अगर अस्पतालों की बात करते हैं तो, किस अस्पताल में कितने बेड खाली हैं, कितने आईसीयू बेड खाली हैं, कितने ऑक्सीजन के बेड खाली हैं, ये सारी जानकारी यहां से ट्रेस हो सकेगी. इतना ही नहीं क्षेत्रवार कितने एक्टिव मरीज हैं, कितने मरीज ठीक हो चुके हैं, उसका ज्योग्राफिकल डिस्ट्रीब्यूशन डाटा यहां कैप्चर होना शुरू हो गया है. उन्होंने कहा कि यह एक अच्छी शुरुआत है. क्योंकि सरकार अगर कोई फैसला हवा में लेती है तो, वह फैसला कभी सफल नहीं होता. सरकार अगर वही फैसला डाटा के आधार पर लेती है तो. वह निर्णय सार्थक होगा और प्रभावी होगा.

दिल्ली सरकार ने कोविशील्ड के लिए सीरम इंस्टीट्यूट को भी लिखा पत्र

भारत बायोटेक द्वारा यह कहे जाने के बाद कि वह दिल्ली को फिलहाल कोवैक्सिन की और अधिक खुराकों की आपूर्ति नहीं कर सकता है, दिल्ली सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) से मदद के लिए आगे आने और कोविशील्ड टीका प्रदान करने का आग्रह किया. दो दिन पहल लिखे पत्र में दिल्ली सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट से कहा कि उसके पास 18 से 44 वर्ष के आयुवर्ग के लोगों के लिए कोविशील्ड का सीमित भंडार है, जो कि एक सप्ताह में खत्म हो जाएगा. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इसको लेकर, एसआईआई ने कहा कि वे देश भर में टीका की जरूरतों को पूरा करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.


दिल्ली में वैक्सीन का कितना स्टॉक ?

18-44 उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक – 3,41,140
– को-वैक्सीन- 5,640
– कोविशील्ड- 3,35,500

हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए 3 दिन की को-वैक्सीन और 6 दिन की कोविशील्ड बची है.

हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक- 3,90,710
– को-वैक्सीन- 1,09,570
– कोविशील्ड- 2,81,140

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here