पंजाब कांग्रेस, में विवाद थमता नहीं दिख रहा है.कांग्रेस में मंत्री रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर अपने तेवर साफ कर दिए हैं

0
164
पंजाब कांग्रेस, में विवाद थमता नहीं दिख रहा है.कांग्रेस में मंत्री रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर अपने तेवर साफ कर दिए हैं

नई दिल्ली. भले ही टॉप लीडरशिप कोशिश कर रही हो लेकिन पंजाब कांग्रेस में विवाद थमता नहीं दिख रहा है. पंजाब की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर अपने तेवर साफ कर दिए हैं. उन्होंने कहा है कि वो केवल चुनाव जिताने वाले शो पीस नहीं हैं. इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में सिद्धू ने साफ किया है कि उन्होंने पहली कैबिनेट मीटिंग से ही सिस्टम के खिलाफ लड़ाई शुरू कर दी थी.

सिद्धू ने कहा है-डिप्टी सीएम या राज्य कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की बात छोड़िए, अगर पंजाब को विकास के एजेंडे पर आगे बढ़ाया जाता तो मैं जिला परिषद का सदस्य बनने को भी तैयार था. मैं मुख्यमंत्री के पीछे-पीछे चलने के लिए भी तैयार था. मैं कोई शो पीस नहीं हूं जिसका इस्तेमाल चुनाव जीतने के लिए कर लिया जाए और फिर दोबारा आलमारी में रख दें. राज्य के हितों पर व्यक्तिगत हितों को बढ़ावा दिया जा रहा है और ये मेरे लिए बर्दाश्त के काबिल नहीं है.

समाधान के लिए बनी कमेटी सौंप चुकी है रिपोर्ट

बता दें कि पंजाब कांग्रेस के भीतर चल रहे विवाद के समाधान के लिए बनाई गई तीन नेताओं की कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सोनिया गांधी को सौंप दी थी. इस कमेटी के सामने पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह समेत नवजोत सिद्धू और अन्य नेता उपस्थित हुए थे.
तब सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि कमेटी का कहना है-कैप्टन अमरिंदर सिंह के काम करने के स्टाइल से कांग्रेस विधायक नाराज हैं. कैप्टन कांग्रेस के विधायक और नेताओं से महीनों नहीं मिलते. जिससे लोगों में नाराजगी बढ़ी है. कांग्रेस के विधायकों, नेताओं और कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए तुरंत पंजाब कांग्रेस का पुनर्गठन किया जाए. पार्टी के लिए समर्पित कार्यकर्ताओं और नेताओं को इसमें जगह दी जाए.रिक्त पड़े निगम/बोर्ड और दूसरी जगहों पर कांग्रेस के लोगों को नियुक्त किया जाए. नवजोत सिद्धू की नाराजगी दूर करने के लिए कमेटी ने सिफारिश दी है कि उन्हें तुरंत पॉलिटिकली एडजस्ट किया जाए. सिद्धू को क्या पद देना है इसका आखिरी फैसला सोनिया गांधी और कांग्रेस आलाकमान करेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here