पश्चिम बंगाल में बीजेपी के पिछड़ने से विपक्ष गदगद, जानिए अखिलेश यादव, शरद पवार और महबूबा मुफ्ती ने क्या कहा

0
186
पश्चिम बंगाल में बीजेपी के पिछड़ने से विपक्ष गदगद, जानिए अखिलेश यादव, शरद पवार और महबूबा मुफ्ती ने क्या कहा

पश्चिम बंगाल में दोपहर करीब 1 बजे तक आए रुझानों से यह तय हो गया है कि ममता बनर्जी की अगुआई में तृणमूल कांग्रेस को बड़ी जीत मिली है तो भारतीय जनता पार्टी 100 के आंकड़े तक पहुंचने के लिए संघर्ष कर रही है। गैर एनडीए दलों के नेता ममता की जीत पर खुशी का इजहार कर रहे हैं। अखिलेश यादव, महबूबा मुफ्ती, शरद पवार जैसे नेताओं ने ममता को जीत की बधाई दी है। 

चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल जाकर ममता बनर्जी का समर्थन करने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने टीएमसी की जीत पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने इसे ममता पर ‘दीदी ओ दीदी’ कटाक्ष का जवाब बताया है। वहीं, एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने ममता को बधाई देते हुए लोगों की भलाई और महामारी का मुकाबले करने को कहा।

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ”पश्चिम बंगाल में भाजपा की नफरत की राजनीति को हराने वाली जागरूक जनता, जुझारू सुश्री ममता बनर्जी जी और टीएमसी के समर्पित नेताओं और कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई!  ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है।” उन्होंने ट्वीट के साथ  हैशटैग ‘दीदी जिओ दीदी’ का इस्तेमाल किया

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा, ”ममता बनर्जी, तृणमूल कांग्रेस और सांसद डेरेक ओब्रायन को शानदार जीत की बधाई। पश्चिम बंगाल के लोगों को भी विध्वंसकारी और विभाजनकारी ताकतों को हराने के लिए बधाई।”

शरद पवार ने ट्वीट किया, ”ममता बनर्जी को शानदार जीत की बधाई। आइए लोगों की भलाई और महामारी का मुकाबला करने के लिए मिलकर काम करें।

पश्चिम बंगाल चुनाव में कई गैर एनडीए दलों ने टीएमसी का समर्थन किया था। राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने भी बंगाल जाकर ममता के लिए वोट की अपील की थी। पवार पश्चिम बंगाल तो नहीं जा पाए थे लेकिन उन्होंने ममता के साथ एकजुटता का इजहार किया था। पश्चिम बंगाल में बीजेपी की हार के बाद विपक्षी दलों ने केंद्र में मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। हालांकि, भगवा दल असम में दोबारा सत्ता में लौटा है तो पुडुचेरी में कांग्रेस से सत्ता छीन ली है। लेकिन पश्चिम बंगाल में पार्टी को बड़ा झटका लगा है, जहां 200 से अधिक सीट जीतने का दावा किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here