बड़ी राहत: जुलाई के आखिर या अगस्त में आ सकती है बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन

0
174
बड़ी राहत: जुलाई के आखिर या अगस्त में आ सकती है बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने रविवार को कहा कि 12 से 18 साल के बच्चों का टीकाकरण जुलाई के अंत में या फिर अगस्त में शुरू हो सकता है. टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (NTAGI) के कोविड-19 कार्य समूह के प्रमुख डॉ. एन.के. अरोड़ा ने कहा, ‘दवा निर्माता कंपनी जायडस कैडिला के कोविड-19 रोधी टीके ‘जायकोव-डी’ का परीक्षण करीब-करीब पूरा हो चुका है. मुमकिन है कि जुलाई के आखिर तक या फिर अगस्त में हम 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका देना शुरू कर सकते हैं.’ वर्तमान में सिर्फ 18 साल या फिर उससे अधिक उम्र वालों का ही टीकाकरण हो रहा है.

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक दवा निर्माता कंपनी जायडस कैडिला जल्द ही भारत के औषधि महानियंत्रण (DCGI) के समक्ष अपने कोविड-19 रोधी टीके ‘जायकोव-डी’ के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के लिए आवेदन कर सकती है. कंपनी का दावा है कि इस वयस्कों और बच्चों दोनों को दिया जा सकता है

एक दिन पहले 26 जून को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि बच्चों के लिए कोविड-19 टीकों की उपलब्धता एक महत्वपूर्ण उपलब्धि होगी और इससे स्कूल खुलने तथा उनके लिए बाहर की गतिविधियों के लिए मार्ग प्रशस्त होगा. उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक के टीके कोवैक्सीन के दो से 18 साल आयुवर्ग के बच्चों पर किए गए दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के आंकड़ों के सितंबर तक आने की उम्मीद है.

उन्होंने कहा कि औषधि नियामक की मंजूरी के बाद भारत में उस समय के आस-पास बच्चों के लिए टीके उपलब्ध हो सकते हैं. डॉ. गुलेरिया ने शनिवार को ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘उससे पहले अगर फाइजर के टीके को मंजूरी मिल गई तो यह भी बच्चों के लिये एक विकल्प हो सकता है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here