महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक बना कोरोना का नया एपिसेंटर, 24 घंटे में आए 39 हजार नए केस

0
149
महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक बना कोरोना का नया एपिसेंटर, 24 घंटे में आए 39 हजार नए केस

कोरोना वायरस महाराष्ट्र में तबाही मचाने के बाद अब दक्षिण भारत के एक राज्य कर्नाटक में कहर बनकर टूट रहा है. यहां महज 24 घंटे में कोरोना वायरस के 39 हजार 305 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 500 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है

बेंगलुरु. यूं तो कोरोना वायरस पूरे देश में ही कहर ढा रहा है, लेकिन अब तक महाराष्ट्र में हर दिन कोविड के सबसे ज्यादा मामले आ रहे थे. ताजा आंकड़ों में कोरोना वायरस के मामले में महाराष्ट्र को पछाड़कर कर्नाटक देश में पहले नंबर पर आ गया है. सोमवार को आए आंकड़ों में कर्नाटक में कोरोना के 39 हजार 305 मामले दर्ज किए गए, जो देश में सबसे ज्यादा हैं.

महाराष्ट्र में घटे मामले, कर्नाटक में बढ़े

फरवरी से लगातार महाराष्ट्र कोविड के नए मामलों को लेकर पहले नंबर पर था. लेकिन सोमवार को महाराष्ट्र में कोरोना के 37236 नए मामले सामने आये हैं जबकि 549 लोगों की जान गई है. वहीं कर्नाटक की बात करें तो यहां कोरोना के 39,305 नए मामले आए और 596 मौतें दर्ज की गईं. इस तरह पहली बार कोरोना केसेज की लिस्ट में महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर पहुंचा. 9 अप्रैल से यहां हर रोज कोरोना के 50 हजार केस रिकॉर्ड किए जा रहे थे. इस वक्त कर्नाटक में कोरोना के 5 लाख 71 हजार एक्टिव केसेज मौजूद हैं

बेंगलुरु में हालात खराब
कर्नाटक के बेंगुलरु जिले में में कोरोना संक्रमण के चलते 374 मौतें हुई हैं, जबकि 16 हजार 747 कोविड के नए मामले सामने आए. अब तक यहां कोरोना संक्रमण के 9 लाख 67 हजार 640 एक्टिव केसेज मौजूद हैं जबकि 8 हजार 431 मौतें हुई हैं. पहली बार बेंगलुरु में कोरोना से इतनी मौतें हुई हैं. कर्नाटक में बेंगलुरु शहर इस समय कोरोना वायरस का एपिसेंटर बना हुआ है.

मौत के बढ़ते आंकड़े चिंता का विषय

7 मई को कर्नाटक में कोरोना वायरस से 592 लोगों की जान चली गई थी. दक्षिणी भारत का कर्नाटक महाराष्ट्र के बाद दूसरा राज्य है जहां रोजाना 500 से ज्यादा लोगों की जान जा रही हैं. अब तक सबसे ज्यादा मौतें महाराष्ट्र में 28 अप्रैल को रिकॉर्ड की गई थीं, जब वायरस ने एक दिन में 985 लोगों को मौत की नींद सुला दिया था

14 दिन का लॉकडाउन, सीएम ने जनता से मांगा सहयोग

मुख्यमंत्री बी एस येदुरप्पा ने लोगों ने अपील की है कि कुछ दिनों के लिए लॉकडाउन लगाया जा रहा है, जिसका लोग सख्ती से पालन करें ताकि कोरोना वायरस को बढ़ने से रोका जा सके. उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि -14 दिन के लॉकडाउन का उद्देश्य संक्रमण की चेन को रोकना है. ऐसे में सभी नागरिक एक साथ मिलकर महामारी की जंग में सरकार का सहयोग करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here