मोदीजी एक हवाई सर्वे प्रयाग और वाराणसी में कर लेते, गंगा की गोद में सो रही लाशों को श्रद्धांजलि दे देते: आचार्य

0
214

देश में आए ताउते तूफ़ान ने कई राज्यों में तबाही मचा दी है। सोमवार की रात ताउते चक्रवात गुजरात तट पर टकराया है। जहां कई तेल और गैस रिफाइनरी है।

इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस चक्रवात के बाद गुजरात में हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए इससे प्रभावित हुए इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया है।

पीएम मोदी ने गुजरात के साथ-साथ दमन दीव में भी हुए नुकसान का जायजा लिया है।

बताया जाता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ताउते चक्रवात से हुए नुकसान और इसको लेकर की गई तैयारियों के मामले में अहमदाबाद में एक मीटिंग भी की है। जानकारी के मुताबिक गुजरात के ऊना और गिर सोमनाथ में इस चक्रवात के चलते भारी नुकसान हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में हुए इस नुकसान के बाद उनके हवाई सर्वेक्षण ने सोशल मीडिया पर भी हंगामा मचा दिया है।

इस कड़ी में कांग्रेस नेता और धर्मगुरु आचार्य प्रमोद कृष्णन ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “गुजरात का हवाई सर्वे और 1 हज़ार करोड़ का पैकेज, एक चक्कर प्रयाग और वाराणसी के ऊपर भी लगा लेते जहाँ हज़ारों लोग गंगा मैया की गोद में सो रहे हैं, जिन्हें आप इलाज तो नहीं दे पाये श्र्धांजलि ही दे देते।

वहीँ सोशल मीडिया पर लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जमकर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।

लोगों का कहना है कि गुजरात से पहले उत्तर प्रदेश और बिहार में कोरोना महामारी के चलते तबाही का मंजर देखने को मिल चुका है। लेकिन पीएम मोदी ने वहां का सर्वेक्षण क्यों नहीं किया।

सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि पूरे देश के लोगों ने आपको वोट दिया है। सिर्फ गुजरात के लोगों ने ही आपको वोट नहीं दिया।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद राज्य को एक हजार करोड़ का राहत पैकेज दे दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here