IPL रद्द होने पर बोले शोएब अख्तर, हर दिन 4 लाख केस आ रहे हैं, ये तमाशा नहीं हो सकता

0
214
IPL रद्द होने पर बोले शोएब अख्तर, हर दिन 4 लाख केस आ रहे हैं, ये तमाशा नहीं हो सकता

नई दिल्ली. बायो-बबल में कोविड-19 के कई मामले पाये जाने के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) को मंगलवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया. लीग स्थगित करने की घोषणा सनराइजर्स हैदराबाद के विकेटकीपर बल्लेबाज

ऋद्धिमान साहा और दिल्ली कैपिटल्स के स्पिनर अमित मिश्रा के कोविड-19 के पॉजिटिव पाए जाने के बाद की गई. इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के वरुण चक्रवर्ती और संदीप वारियर भी पॉजिटिव पाए गए थे. चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी भी पॉजिटिव पाए गए. पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज और कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ी रह चुके शोएब अख्तर ने कहा कि आईपीएल को पहले ही रद्द कर देना चाहिए था.

शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘हर दिन चार से पांच लाख केस आ रहे हैं. 10 से 12 हजार लोगों की मौत हर दिन हो रही है. इस दौरान आईपीएल नहीं हो सकता. खेल तमाशा नहीं हो सकता. लोग 2008 से ही पैसे बना रहे हैं. एक साल पैसा नहीं कमाया तो कोई मुसीबत नहीं आ जाएगी. यह राष्ट्रीय आपदा है. हमने पीएसएल में बायो-बबल बनाया जो पूरी तरफ फ्लॉप हो गया. हिन्दुस्तान ने बायो-बबल बनाया और वह भी पूरी तरह फ्लॉप रहा.’

अख्तर ने कहा कि इस समय लोगों की जान बचाने की जगह कोई दूसरी बात नहीं हो सकती है. मैंने एक हफ्ते पहले ही इस बात को कहा था. अब आखिर में बीसीसीआई ने आईपीएल को स्थगित कर सही फैसला किया है.

एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि बीसीसीआई को आईपीएल स्थगित होने से 2200 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. टूर्नामेंट का फाइनल 30 मई को अहमदाबाद में होना था. अभी तक इसमें 24 दिन ही खेल हो सका और 29 मैच ही खेले गए. बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा ,‘‘सत्र बीच में रद्द होने से हमें 2000 से 2500 करोड़ रुपये तक का नुकसान होगा. अनुमानत: 2200 करोड़ रूपये का नुकसान हो सकता है.’’

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा, ‘‘हम देखेंगे कि क्या साल के दौरान बाद में हमें आईपीएल आयोजन के लिये कोई उपयुक्त समय मिल सकता है. यह सितंबर हो सकता है लेकिन अभी यह केवल कयास होंगे. अभी की स्थिति यह है कि हम टूर्नामेंट का आयोजन नहीं कर रहे हैं.

कोविड-19 के कारण 2020 में आईपीएल का आयोजन यूएई में जैव सुरक्षित वातावरण में किया गया था. तब केवल टूर्नामेंट से पहले संक्रमण के कुछ मामले सामने आये थे. भारत में अभी प्रतिदिन तीन लाख से अधिक माामले सामने आ रहे हैं जबकि हर दिन 3000 से अधिक लोगों की मौत हो रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here