अखिलेश यादव और आजम खां ने लोकसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा

0
255

समाजवादी पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मंगलवार को ओम बिरला से मुलाकात कर लोकसभा की सदस्यता से से इस्तीफा दे दिया. हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में करहल सीट (Karhal Vidhansabha Seat) जीतने के बाद उन्होंने यह फैसला लिया है. अटकलें लगाई जा रही थीं कि वह करहल से इस्तीफा देकर लोकसभा में बने रहेंगे लेकिन अब साफ हो गया कि सपा प्रमुख ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में बैठकर योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के खिलाफ लामबंदी का मन बनाया है. मंगलवार को वह अपने चाचा रामगोपाल यादव (Ramgopal Yadav) के साथ सदन पहुंचे और अपना इस्तीफा लोकसभा अध्यक्ष को सौंपा

अखिलेश यादव के इस कदम से यह साफ हो गया कि वह विपक्ष नेता बनेंगे, हालांकि आधिकारिक तौर पर कोई सूचना नहीं दी गई है. वहीं दूसरी तरफ जानकारी सामने आ रही है कि आजम खान भी रामपुर लोकसभा सीट से इस्तीफा दे दिया. वह भी रामपुर विधानसभा सीट से चुनाव जीते थे. बताते चलें कि लोकसभा और विधानसभा दोनों ही चुनाव जीतने की स्थिति में एक जगह से इस्तीफा देना पड़ता है. अखिलेश यादव और आजम खान के इस्तीफा देने के बाद अब अगले 6 महीनों में दोनों सीटों पर उपचुनाव कराए जाएंगे. इसी के साथ लोकसभा में सपा के सांसदों की संख्या भी तीन हो गई है. अब समाजवादी पार्टी से सिर्फ मुलायम सिंह यादव, एसटी हसन और शफीकुरर्हमा बर्क ही लोकसभा में रह गए

योगी आदित्यनाथ ने एमएलसी पद से दिया इस्तीफा

इससे पहले उत्तर प्रदेश के कार्यवाहक सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार शाम को विधान परिषद (MLC) की सदस्यता से इस्तीफा दिया था. 2017 के विधानसभा चुनावों में जब योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना गया था तो वह गोरखपुर से सांसद थे. उन्होंने एमएलसी रहते हुए मुख्यमंत्री का पहला कार्यकाल पूरा कर लिया लेकिन इस बार वह विधानसभा चुनावों में गोरखपुर शहर सीट से चुने गए हैं. उन्होंने सपा उम्मीदवार को एक लाख से ज्यादा वोटों से हराया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here