एबी डिविलियर्स नहीं करेंगे संन्यास से वापसी, वेस्टइंडीज दौरे पर जाने से किया इनकार

0
199
एबी डिविलियर्स नहीं करेंगे संन्यास से वापसी, वेस्टइंडीज दौरे पर जाने से किया इनकार

एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) ने साल 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था, ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि वो टी20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए साउथ अफ्रीकी टीम में वापसी कर सकते हैं लेकिन अब इन सभी संभावनाओं को इस दिग्गज खिलाड़ी ने खत्म कर दिया है.

नई दिल्ली. अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से फैंस का दिल जीतने वाले मिस्टर 360 डिग्री यानि एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी नहीं करेंगे. मंगलवार को ये बुरी खबर क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने दी. क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने बताया कि एबी डिविलियर्स ने साफतौर पर इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी से इनकार कर दिया है और वो आने वाले वेस्टइंडीज दौरे पर भी टीम का हिस्सा नहीं होंगे. बता दें साउथ अफ्रीकी टीम वेस्टइंडीज दौरे पर 2 टेस्ट और पांच टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी. दौरे का आगाज 10 जून से होगा.

ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि डिविलियर्स इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं और वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान वो ये करने वाले हैं लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है. साउथ अफ्रीका क्रिकेट ने एबी डिविलियर्स से इस मुद्दे पर बातचीत की लेकिन उन्होंने संन्यास से वापसी से इनकार कर दिया.

डिविलियर्स नहीं करेंगे इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी

साउथ अफ्रीका क्रिकेट ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि एबी डिविलियर्स से बातचीत हुई है और उन्होंने फैसला किया है कि उनके रिटायरमेंट का फैसला बरकरार रहेगा और वो वापसी नहीं करेंगे. बता दें हाल ही में साउथ अफ्रीकी क्रिकेट डायरेक्टर ग्रीम स्मिथ ने कहा था कि डिविलियर्स वेस्टइंडीज दौरे से साउथ अफ्रीकी टीम में वापसी कर सकते हैं.
डिविलियर्स का बेमिसाल करियर

एबी डिविलियर्स ने साल 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. डिविलियर्स ने 114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 टी20 मैच खेले. इंटरनेशनल क्रिकेट में उनके बल्ले से 47 शतक निकले. डिविलियर्स भले ही 3 साल पहले इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं लेकिन वो आज भी आईपीएल में अपना दम दिखाते हैं. आईपीएल 2021 में डिविलियर्स ने 6 पारियों में 51.75 की औसत से 207 रन बनाए थे. वैसे साउथ अफ्रीका को डिविलियर्स की दरकार भी थी क्योंकि ये टीम अब काफी कमजोर हो गई है और भारत-इंग्लैंड जैसी टीमों के खिलाफ उसका जीतना अब मुश्किल नजर

आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here