ऑनलाइन पढ़ाई में 60 लाख छात्र कर रहे नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी का इस्‍तेमाल, ऐसे करें रजिस्‍ट्रेशन

0
145
ऑनलाइन पढ़ाई में 60 लाख छात्र कर रहे नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी का इस्‍तेमाल, ऐसे करें रजिस्‍ट्रेशन

नई दिल्‍ली. कोरोना महामारी के दौरान घर पर बैठकर की जा रही पढ़ाई में नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया (National Digital Library Of India) छात्रों की पहली पसंद बनकर उभरी है. देश में कोरोना की पहली लहर आने के बाद भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय की ओर से इसे तैयार किया गया था. वहीं इसे इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी खड़गपुर (IIT Kharagpur) के द्वारा चलाया जा रहा है. खास बात है कि पिछले साल तैयार हुई इस लाइब्रेरी में अभी तक 60 लाख से ज्‍यादा छात्र रजिस्‍ट्रेशन करा चुके हैं.

आईआईटी खड़गपुर के प्रोफेसर और नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी (NDLI) के प्रिंसिपल इन्‍वेस्टिगेटर पीपी चक्रवर्ती ने न्‍यूज 18 हिंदी से बातचीत में बताया कि इस लाइब्रेरी से रोजाना तकरीबन दो लाख डॉक्‍यूमेंट पढ़ाई के लिए इस्‍तेमाल किए जा रहे हैं. यह संख्‍या लगातार बढ़ रही है. इसके साथ ही इस लाइब्रेरी के प्‍लेटफॉर्म को इस्‍तेमाल करने के लिए रजिस्‍ट्रेशन अनिवार्य है ऐसे में अभी तक 60 लाख के लगभग बच्‍चे यहां रजिस्‍टर्ड हैं.

जबकि करीब 32 लाख छात्र इस लाइब्रेरी (Library) पर सक्रिय हैं. इसमें 7.3 करोड़ पढ़ाई से संबंधित दस्‍तावेज या किताबों का मेटेरिेयल उपलब्‍ध है. जिसमें से 60-70 फीसदी मेटेरियल पूरी तरह फ्री है. हालांकि इस लाइब्रेरी से संबंधित किसी भी किताब या डॉक्‍यूमेंट के इस्‍तेमाल पर कोई शुल्‍क नहीं है लेकिन बाकी बचा हुआ करीब 30 फीसदी मेटेरियल सब्‍सक्रिप्‍शन पर मिलता है. ऐसे में करीब छह करोड़ के आसपास किताबें यहां से बच्‍चे किसी भी वक्‍त इस्‍तेमाल कर सकते हैं.

इस लाइब्रेरी में प्राइमरी से लेकर पोस्‍ट ग्रेजुएशन तक की किताबें उपलब्‍ध हैं. इसके साथ ही यहां छात्रों से लेकर टीचर्स, रिसर्चर्स, लाइब्रेरियन और अन्‍य प्रोफेशनल के लिए भी किताबें मौजूद हैं. यहां मिलने वाला कंटेंट या मेटेरियल ऑडियो, वीडियो, डॉक्‍यूमेंट और किताबों के अलावा थीसिस के रूप में है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here