कर्नाटक : मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कोरोना लॉकडाउन पाबंदियों में ढील देने के संकेत दिए

0
159
कर्नाटक : मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कोरोना लॉकडाउन पाबंदियों में ढील देने के संकेत दिए

बेंगलुरु. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (Karnataka Chief Minister BS Yeddyurappa) ने मंगलवार को संकेत दिया कि 21 जून के बाद राज्य में लॉकडाउन पाबंदियों में और ढील दी जाएगी. इस समय ग्यारह जिलों में सख्त लॉकडाउन जारी है और यहां कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए फैसला होगा. जिन जिलों में संक्रमण की दर कम है वहां कुछ छूट दी जा सकती है.

मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने राज्य में अनलॉक के अगले चरण के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘आज और कल की स्थिति का विश्लेषण करने के बाद, हम देखेंगे कि क्या किया जाना है और स्थिति में सुधार के साथ ही प्रतिबंधों में और ढील दी जाएगी और हम ऐसा करेंगे

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, राज्य की कोविड-19 तकनीकी सलाहकार समिति (टीएसी- जिसमें विशेषज्ञ शामिल हैं) की सलाह को ध्यान में रखते हुए और अपनी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों से सलाह लेने के बाद, मुख्यमंत्री इस सप्ताह के अंत से पहले इस संबंध में निर्णय ले सकते हैं

सरकार ने पिछले हफ्ते नए दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसमें 11 ऐसे जिलों में लॉकडाउन पाबंदियों को 21 जून तक बढ़ा दिया गया था जहां संक्रमण की दर अधिक है जबकि राज्य के बाकी हिस्सों में 14 जून से कुछ छूट की घोषणा की गई थी. जिन ग्यारह जिलों में सख्त लॉकडाउन जारी है, वे चिकमगलूर, शिवमोगा, दावणगेरे, मैसूर, चामराजनगर, हासन, दक्षिण कन्नड़, बेंगलुरु ग्रामीण, मांड्या, बेलगावी और कोडागु हैं. लॉकडाउन पाबंदियों में छूट 14 जून की सुबह छह बजे से 21 जून की सुबह छह बजे तक है

मई में आक्‍सीजन की कमी से जूझा था राज्‍य

कर्नाटक में भी कोरोना मरीजों को ऑक्‍सीजन की कमी से जूझना पड़ा. राज्‍य की ऐसी स्थिति थी कि अस्‍पतालों के बाहर अब मरीजों के परिजनों को ऑक्‍सीजन सिलेंडर के लिए खड़ा देखा जा सकता था. इस संकट के बीच अधिकांश मरीजों के परिवारों को अस्‍पतालों की ओर से कहा गया कि अगर वे अपने मरीजों को भर्ती कराना चाहते हैं तो ऑक्‍सीजन सिलेंडर खुद लेकर आएं. सूत्रों के अनुसार अधिकांश अस्‍पताल रोजाना की ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की पूर्ति के लिए जद्दोजहद कर रहे थे. छोटे अस्‍पतालों में संकट और विकट रहा क्‍योंकि इनके पास स्‍टोरेज टैंक तक नहीं होते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here