कोरोना से बचने के लिए गाय के गोबर का इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, डॉक्टरों ने दी चेतावनी

0
355
कोरोना से बचने के लिए गाय के गोबर का इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, डॉक्टरों ने दी चेतावनी

देश के कई इलाकों से खबरें आ रही हैं कि लोग कोरोना से बचाव के लिए गाय के गोबर (Cow Dung ) का इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन डॉक्टरों ने लोगों को ऐसा न करने की चेतावनी दी है.

नई दिल्ली.  देशभर में इन दिनों कोरोना वारयस (Coronavirus) के संक्रमण के चलते अफरा-तफरी का माहौल है. वायरस के आक्रमण से बचने के लिए लोग तरह-तरह के घरेलू नुस्खे अपना रहे हैं. देश के कई इलाकों से खबरें आ रही हैं

कि लोग कोरोना से बचाव के लिए गाय के गोबर (Cow Dung ) का इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन डॉक्टरों ने लोगों को ऐसा न करने की चेतावनी दी है. डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना को रोकने के लिए गोबर के इस्तेमाल से लोगों को दूसरी बीमारियां हो सकती है. साथ ही डॉक्टरों ने ये भी कहा है कि विज्ञान में ऐसा कोई प्रमाण नहीं जिससे कहा कहा जा सकता है कि कोरोना को रोकने में गाय के गोबर मदद मिलती है.

बता दें कि हिंदू धर्म में गाय को जीवन और पृथ्वी का एक पवित्र प्रतीक माना गया है.सदियों से हिंदुओं ने अपने घरों को साफ करने और प्रार्थना अनुष्ठानों के लिए गाय के गोबर का इस्तेमाल किया है. इसी के तहत इन दिनों गुजराज में कई लोग कोरोना से बचने के लिए गौशाला जा रहे हैं. हफ्ते में एक बार यहां पहुंच कर लोग शरीर में गाय के गोबर और गोमूत्र का लेप लगाते हैं. इनका विश्वास है कि ऐसा करने से उनकी इम्यूनिटी बढ़ जाएगी और वो कोरोना से बच सकते हैं

इम्यूनिटी  बेहतर होने का दावा

गौतम मणिलाल बोरीसा, जो कि एक फार्मास्युटिकल्स कंपनी में एसोसिएट मैनेजर हैं वो पिछले एक साल से एक ऐसे ही सेंटर पर आ रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हम देखते हैं … यहां तक ​​कि डॉक्टर यहां आते हैं. उनका मानना ​​है कि इस थेरेपी से उनकी इम्यूनिटी में सुधार होता है और वे बिना किसी डर के मरीजों के पास जा सकते हैं.’. इस सेंटर का नाम है श्री स्वामीनारायण गुरुकुल विश्वविद्या

डॉक्टरों की चेतावनी

दुनिया भर के डॉक्टर और वैज्ञानिक लोगों को ऐसा न करने की सलाह दे रहे हैं. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर जेए जयलाल ने कहा, ‘इन उत्पादों का सेवन करने से स्वास्थ्य को खतरा है. उन्हें अन्य बीमारियां पशु से मनुष्यों में फैल सकती हैं. इसके अलावा लोग ऐसे सेंटर में पहुंच कर भीड़ लगाते हैं. इसका भी नुकसान हो सकता है. ऐसी जगहों पर कोरोना के संक्रमण का ज्यादा खतरा रहता है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here