कोविशील्ड के जैब्स के बीच 84 दिनों का अंतर सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा प्रदान कर रहा हैः केंद्र ने कोर्ट से कहा

0
26
कोविशील्ड के जैब्स के बीच 84 दिनों का अंतर सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा प्रदान कर रहा हैः केंद्र ने कोर्ट से कहा

कोच्चि: 

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को केरल उच्च न्यायालय से कहा है कि कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक के बीच 84 दिनों की अवधि COVID-19 के खिलाफ सर्वोत्तम सुरक्षा प्रदान कर रही है. यह केंद्र सरकार द्वारा दायर जवाबी हलफनामे में काइटेक्स गारमेंट्स लिमिटेड, कोच्चि द्वारा एक रिट याचिका का जवाब देते हुए कहा गया था. रिट याचिका में राज्य सरकार को निर्देश देने की मांग की गई थी कि वह उनके कर्मचारियों को कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी खुराक 84 दिन से पहले लगने दें.

केंद्र सरकार के हलफनामे में कहा गया है, “भारत का राष्ट्रीय COVID टीकाकरण कार्यक्रम वैज्ञानिक और महामारी विज्ञान के साक्ष्य, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के दिशानिर्देशों और वैश्विक सर्वोत्तम अनुभवों पर बनाया गया है.”

हलफनामे में कहा गया है, “एनईजीवीएसी की सिफारिशों के आधार पर, राष्ट्रीय कोविड -19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत कोविशील्ड वैक्सीन की अनुसूची पहली खुराक के प्रशासन के बाद 12-16 सप्ताह के अंतराल पर दूसरी खुराक देना है. यह तकनीकी राय पर आधारित है कि कोविशील्ड की पहली और दूसरी खुराक के बीच 84 दिनों की अवधि COVID-19 के खिलाफ सर्वोत्तम सुरक्षा प्रदान कर रही है.”

इसमें आगे कहा गया, “पूर्ण टीकाकरण कवरेज प्रदान करने और वास्तविक कारणों से अंतरराष्ट्रीय यात्रा की सुविधा के लिए, 12-16 सप्ताह की निर्धारित समय अवधि से पहले दूसरी खुराक की अनुमति देने का निर्णय लिया गया था. उपलब्ध साक्ष्य के अनुसार, कोविशील्ड वैक्सीन की दो खुराक द्वारा प्रदान की गई प्रतिरक्षा के साथ 12-16 सप्ताह से कम का अंतराल आंशिक टीकाकरण से बेहतर होगा. कोविशील्ड वैक्सीन के खुराक अंतराल को बढ़ाने का निर्णय वैज्ञानिक साक्ष्य और उपलब्ध प्रभावकारिता डेटा के अनुसार विशेषज्ञ की राय पर आधारित था.

याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि 84 दिनों के अंतराल की शर्त को टीकों पर लागू नहीं किया जा सकता है. वकील ने यह भी बताया कि कोविशील्ड निर्माता के चिकित्सा प्रोटोकॉल ने टीके की पहली और दूसरी खुराक के बीच 28 दिनों के अंतराल की अनुमति दी थी.

हिंदुस्तान हिंदी टाइम्स Whatsapp Group link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here