गुजरात के एक किसान की बेटी ने देश में सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट बनने का खिताब हासिल किया है.

0
31
गुजरात के एक किसान की बेटी ने देश में सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट बनने का खिताब हासिल किया है.

सूरत. गुजरात के एक किसान की बेटी ने देश में सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट (Yongest Commercial Pilot) बनने का खिताब हासिल किया है. 19 वर्षीय मैत्री पटेल (Maitri Patel) ने अमेरिका से पायलट की ट्रेनिंग हासिल कर इतिहास रच दिया है. मैत्री के पिता का नाम कांति पटेल है. मैत्री ने 11 महीने की ट्रेनिंग के बाद कॉमर्शियल पायलट बनने का लाइसेंस हासिल कर लिया है. अमेरिका से कोर्स पूरा कर वापस लौटी मैत्री ने न्यूज़18 से बातचीत की है.

मैत्री बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं. उन्होंने 12वीं पास करने के बाद पायलट बनने की ट्रेनिंग ली है. उनके पिता किसान हैं और सूरत मुनसिपल कॉरपोरेशन में कर्मचारी हैं. मैत्री ने बताया-सामान्य तौर ये ट्रेनिंग पूरा करने में 18 महीने का वक्त लगता है क्योंकि आपको कुछ निश्चित घंटों तक उड़ान भरना जरूरी है. लेकिन मैं भाग्यशाली हूं कि ये ट्रेनिंग 11 महीने में ही पूरी कर ली. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद मैंने अपने पिता को फोन कर अमेरिका बुलाया और फिर हमने 3500 फुट की ऊंचाई पर उड़ान भरी. ये मेरे लिए सपना पूरा होने जैसा वाकया था.

इस बड़ी कामयाबी के बाद परिवार ने उन्हें ‘श्रवण’ नाम दिया है
अपनी बेटी की कामयाबी पर बेहद खुश रेखा पटेल कहती हैं-मैत्री की इस बड़ी कामयाबी के बाद परिवार ने उन्हें ‘श्रवण’ नाम दिया है. बता दें कि हिंदू धार्मिक कथाओं में श्रवण कुमार का जिक्र माता-पिता के अनन्य सेवक के रूप में आता है. समाज में ‘श्रवण पुत्र’ जैसी उपमा का प्रचलन है.

‘मैत्री ने सपना पूरा कर दिखाया है’
पिता कांतिलाल पटेल का कहना है- ये हमारी इच्छा थी कि कभी ऐसी उड़ान भरें जिस फ्लाइट की चालक हमारी बेटी हो. मैत्री ने वो सपना पूरा कर दिखाया है. किसी पिता को इससे ज्यादा क्या चाहिए! अब उसे भारत में कॉमर्शियल पायलट बनने के लिए देश के नियमों को पास करना होगा. इसके बाद ही उसे भारत में पायलट बनने का मौका मिलेगा.

हिंदुस्तान हिंदी टाइम्स Whatsapp Group link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here