जोधपुर: जानिये कोरोना काल में राजस्थान में किस तरह से काम रही है पीड़ितों के मसीहा सोनू सूद की टीम

0
188
जोधपुर: जानिये कोरोना काल में राजस्थान में किस तरह से काम रही है पीड़ितों के मसीहा सोनू सूद की टीम

Film star Sonu Sood’s team working: कोरोना काल में फिल्म स्टार सोनू सूद अपने नेटवर्क के जरिये देशभर में पीड़ितों को यथासंभव सहायता पहुंचाने में जुटे हैं. इसके लिये सोनू सूद ने अपनी पूरी टीम बना रखी है जो उनके एक इशारे पर पीड़ित के दरवाजे तक पहुंचती है.

जोधपुर. देशभर में अपनी सेवा को लेकर सुर्खियों आए फिल्म अभिनेता सोनू सूद (Film actor Sonu Sood) ना केवल मुंबई से देशभर में जरुरतमंद लोगों की सेवा कर रहे है बल्कि उन्होंने इस काम के लिये अपनी पूरी टीम गठित कर दी है. इसी टीम के एक विशेष सदस्य हितेश जैन (Hitesh Jain) जोधपुर शहर सहित राजस्थानभर के जरूरतमंदों की मदद करने में जुटे हैं.

हितेश जैन और उनकी संस्था से जुड़े लोग कोरोना काल में सड़कों पर मुस्तैद पुलिसकर्मी, चिकित्सालयों में कार्यरत चिकित्साकर्मियों और मरीजों के तीमारदारों सहित जोधपुर में कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स को पौष्टिक भोजन उपलब्ध करवाने का कार्य पिछले लंबे समय से कर रहे हैं. वे कोरोना पीड़ित मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर और लंग्स एक्सरसाइज मशीनें भी नि:शुल्क उपलब्ध करवा रहे हैं.

यह टीम जी-जान से जुटी है सेवा कार्य में

वे अब तक 500 पल्स ऑक्सीमीटर, 500 लंग्स एक्सरसाइज मशीनें और दो हजार आयुर्वेदिक काढ़े की बोतले कोरोना फ्रंट वॉरियर्स को बांट चुके हैं. उसके बाद भी लगातार यह कार्य जारी है. हाल ही में उनकी टीम ने फिल्म स्टार सोनू सूद के निर्देश पर श्रीगंगानगर के अस्पताल में भर्ती ब्लैक फंगस से पीड़ित वृद्ध महिला को आवश्यक इंजेक्शन उपलब्ध करवाये.
इंजेक्शन लगाने का जिम्मा हितेष जैन को सौंपा

प्रदेशभर में कोरोना के साथ-साथ ब्लैक फंगस बीमारी भी लगातार पैर पसार रही है. राज्य सरकार ने इस बिमारी को भी महामारी घोषित कर दिया है. इसके साथ ही बाजार में इस बिमारी के उपचार में काम आने वाले इंजेक्शन भी गायब हो गए. ऐसे में गंगानगर के टांटिया जनरल अस्पताल में भर्ती मनजीत कौर के बेटे ने फिल्म अभिनेता सोनू सूद से एम्पोटेशिन बी इंजेक्शन की आवश्यकता बताते हुए मदद की गुहार की. उसके बाद सोनू सूद ने पीड़िता मनजीत कौर को ब्लैक फंगस की बीमारी के उपचार में काम आने वाले ये इंजेक्शन पहुंचाने का जिम्मा हितेश जैन का सौंपा.

इस तरह मरीज के पास पहुंचा इंजेक्शन

सोनू सूद ने ये इंजेक्शन मुंबई से हवाई रास्ते से दिल्ली के लिए रवाना किये. इधर हितेश जैन ने अपनी कार को प्रशासन से अनुमति दिलाकर दिल्ली के लिए रवाना कर दिया. जैसे ही इंजेक्शन दिल्ली एअरपोर्ट पहुंचा तो कार चालक उन्हें लेकर श्रीगंगानगर के लिए रवाना हो गया. उसके बाद मात्र साढ़े सात घंटे में यह इंजेक्शन मरीज को उपलब्ध हो गया. इस इंजेक्शन के लगने के बाद पीड़िता के स्वास्थ्य में सुधार की खबर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here