देश में 15 अगस्‍त से महिलाओं के लिए विशेष अभियान आठ करोड़ व्‍यापारी करेंगे आगाज

0
170
देश में 15 अगस्‍त से महिलाओं के लिए विशेष अभियान आठ करोड़ व्‍यापारी करेंगे आगाज

नई दिल्‍ली. स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश में महिलाओं को लेकर देश के व्‍यापारी एक बड़ा अभियान शुरू करने जा रहे हैं. केंद्रीय महिला विकास एवं बाल कल्याण मंत्री स्मृति ईरानी की अपील पर अब देशभर के करीब आठ करोड़ व्‍यापारी इस अभियान को शुरू करेंगे. जिसमें देशभर की महिलाओं को उद्योगों की कमान सौंपने के साथ ही महिला सुरक्षा को लेकर काम किए जाएंगे.

कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने हाल ही में देश में मौजूद करीब 40 हजार व्‍यापारिक संगठनों से संपर्क किया है. जिन्‍होंने पीएम मोदी के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के साथ ही महिला उद्यमिता अभियान को शुरू करने की घोषणा की है. इस बारे में कैट के अध्‍यक्ष बीसी भरतिया और महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा देश में आर्थिक और सामाजिक विकास का यह अभियान भारत सरकार के महिला एवं बाल कल्याण विभाग और कैट द्वारा संयुक्त रूप से चलाया जाएगा.

कैट ने भारत में व्यापार कर रहे आठ करोड़ से ज्यादा व्यापारियों से आर्थिक के साथ सामजिक परिवर्तन में भी बड़ी भूमिका निभाने का आग्रह करते हुए कहा कि अब व्यापारियों को देश में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को उद्यमी बनाने का एक विशेष अभियान चलाया जाना चाहिए. महिलाओं ने समय समय पर विभिन क्षेत्रों में ऊंचाई हासिलकर अपनी योग्यता और क्षमता का परिचय दिया है ऐसे में व्यापार एवं उद्योग में भी महिला क्यों पीछे रहें.

इससे पहले मंत्री ईरानी ने व्‍यापारियों के सम्मेलन में आग्रह करते हुए कहा था कि कारोबारी भी भारत सरकार के बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ आंदोलन का हिस्सा बनें और अपने गली मोहल्ले से लेकर अपने बाजारों में यह सुनिश्चित करें कि कोई भी महिला या कोई भी बालिका के साथ किसी भी तरीके का दुर्व्यवहार ना हो. इसके लिए देश का हर व्यापारी संगठन अपने यहां एक ऐसी टीम बनाए जो इस तरह की हरकतों पर अंकुश लगा सके.

देश के हर गली मोहल्ले में रहने वाली महिला अथवा बेटियों के लिए उसी गली-मोहल्ले में व्यापार करने वाले व्यापारी अगर महिला और बेटियों के अभिभावक बन जाएं तो किसी भी रोडसाइड रोमियो की इतनी हिम्मत नहीं होगी कि वह कहीं भी किसी भी महिला या बालिका के साथ छेड़छाड़ करे. उन्होंने कहा कि देश भर में इस तरह का अभियान एक सामाजिक क्रान्ति का सूत्रपात करेगा.

ईरानी ने यह भी कहा था कि देश भर के बाज़ारों में महिलाओं के लिए सार्वजनिक सुविधाएँ नहीं हैं. दूसरी तरफ़ हर शहर में अनेक स्थान ऐसे होते हैं जहां नितांत अंधेरा रहता है. इन दोनों विषयों पर व्यापारी संगठन ऐसे स्थान चिन्हित कर लें तो केंद्र सरकार, राज्य सरकारें और स्थानीय प्रशासन व्यापारी संगठनों को पूरा सहयोग देंगे. विश्व भर में अपनी तरह का यह अनूठा एवं सार्थक अभियान होगा जो देश के सामाजिक ढांचे को बदल कर रख देगा.

कैट ने ईरानी की बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि यह हमारी लड़ाई उन लोगों से है जो गर्भ में ही एक भ्रूण की हत्या करने से गुरेज नहीं करते जब उन्हें पता चलता है कि वह एक बेटी है. इतनी गंभीर लड़ाई को हम सबको मिलकर लड़ना होगा. उन्होंने कहा कि वो देश भर के व्यापारी संगठनों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर इसके प्रति जागरूकता पैदा करने और इसे रोकने के लिए देश भर के गली मोहल्लों में घूमने के लिए सदैव तत्पर हैं.

हिंदुस्तान हिंदी टाइम्स Whatsapp Group link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here