बेंगलुरु: कोविड टेस्ट से मना करने पर युवक को BBMP कर्मियों ने बुरी तरह पीटा

0
188
बेंगलुरु: कोविड टेस्ट से मना करने पर युवक को BBMP कर्मियों ने बुरी तरह पीटा

सोमवार को एक वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Centre) पर पहुंचा युवक भूलवश कोविड टेस्टिंग के लिए बनी लाइन में नहीं लगा. कथित तौर पर उसने कोरोना टेस्टिंग करवाने से इनकार कर दिया. इसके बाद BBMP कर्मचारियों ने उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी. मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

बेंगलुरु. कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु (Bengaluru) में कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (BBMP) के कर्मचारियों की मनमानी और दबंगई का मामला सामने आया है. दरअसल सोमवार को एक वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचा युवक भूलवश कोविड टेस्टिंग के लिए बनी लाइन में नहीं लगा. कथित तौर पर उसने कोरोना टेस्टिंग करवाने से इनकार कर दिया. इसके बाद BBMP कर्मचारियों ने उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी. मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

घटना का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो इसका संज्ञान बीबीएमपी कमिश्नर ने भी लिया है. उन्होंने इसके लिए खेद जताया है. उन्होंने कहा, ‘हमें नगरथपेट टेस्टिंग बूथ पर हुई घटना के लिए खेद है. दबाव डालकर टेस्टिंग करवाए जाने का कोई सवाल ही नहीं है. हम किसी भी तरह की मारपीट की घटना के लिए खेद व्यक्त करते हैं. जो भी इसके लिए जिम्मेदार होगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी. साथ ही हम कोशिश करेंगे कि भविष्य में ऐसी निराशापूर्ण घटनाएं न हों.

कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है कर्नाटक
बता दें इस वक्त कर्नाटक में कोरोना महामारी का प्रकोप बुरी तरह फैला हुआ है. राज्य में महामारी के 25 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं और 626 लोगों ने जान गंवाई है. संक्रमण के कुल मामले 24 लाख का आंकड़ा पार कर चुके हैं.

इस बीच कर्नाटक सरकार ने राज्य में म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस के मामलों में भारी उछाल का पता लगाने के लिए कोविड-19 से पीड़ित रोगियों को दिए गए ऑक्सीजन के स्रोत का पता लगाने को लेकर एक स्टडी का आदेश दिया है. माइक्रोबायोलॉजिस्ट की एक टीम को संक्रमण से प्रभावित सभी रोगियों की मेडिकल हिस्ट्री और इलाज के दौरान उन्हें दिए गए ऑक्सीजन के स्रोत का डेटा एनालिसिस करने को कहा है, ताकि ब्लैक फंगस के असली कारणों का पता लगाया जा सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here