भारतीय रेलवे कालका शिमला रूट पर फिर शुरू हुई हॉप ऑन हॉप ऑफ सेवा टूरिस्ट प्लेस का आनंद ले सकेंगे यात्री

0
200
भारतीय रेलवे कालका शिमला रूट पर फिर शुरू हुई हॉप ऑन हॉप ऑफ सेवा टूरिस्ट प्लेस का आनंद ले सकेंगे यात्री

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण  के चलते भारतीय रेलवे की ओर से अभी सभी ट्रेनों का संचालन नहीं किया जा रहा है. ऐसे में अब जब कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हो गई है तो ट्रेनों को रफ्तार देने का काम किया जा रहा है. नॉर्दन रेलवे  की ओर से अब कालका-शिमला हिल स्टेशन  पर हॉप-ऑन हॉप-ऑफ सेवा को फिर से शुरू किया जा रहा है.

इस सेवा के शुरू होने से कालका शिमला रूट पर सभी पर्यटन स्थलों को देखने के लिए यात्रियों के लिए सिंगल टिकट की सुविधा भी दी गई है. बताते चलें कि कालका-शिमला टॉय ट्रेन को 1 जुलाई से बहाल कर दिया गया था. इस रूट पर टॉय ट्रेन 1 जुलाई से निरंतर अपने शेड्यूल के मुताबिक संचालित की जा रही है. अब कालका शिमला में पर्यटक को कि ज्यादा आवाजाही के चलते रेलवे की ओर से हॉप-ऑन हॉप-ऑफ सेवा को शुरू किया है

नॉर्दन रेलवे के मुताबिक 118 साल पुराने साल पुराने कालका-शिमला नैरोगेज सैक्‍शन, जोकि यूनेस्‍को विश्‍व धरोहर स्‍थल (UNESCO World Haritage Site) भी है, पर एक बार फिर से हॉप-ऑन हॉप-ऑफ (Hop-on-Hop-off) सेवा शुरू करके शिमला में पर्यटन सीजन की शुरूआत कर दी गई है.

यह सुविधा पर्यटकों को एक ही टिकट पर सभी पर्यटन स्‍थलों को देखने में सक्षम बनाएगी. यह टिकट कालका-शिमला सैक्‍शन के किसी भी स्‍टेशन से खरीदा जा सकता है.

नॉर्दन रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने कालका-शिमला सैक्‍शन पर शुरू की गई हॉप-ऑन हॉप-ऑफ सेवा की प्रमुख विशेषताओं पर विस्‍तार से जानकारी देते हुए बताया कि इस सेवा के अंतर्गत पर्यटक एक ही टिकट पर कालका-शिमला सैक्‍शन के सभी पर्यटन स्‍थलों को देख सकते हैं.

यात्री किसी भी रेलगाड़ी के किसी भी डिब्‍बे में सीटों की उपलब्‍धता को देखते हुए सवार हो सकते हैं. यात्री किसी भी स्‍टेशन से किसी भी रेलगाड़ी में चढ़ या उतर सकते हैं. हॉप-ऑन हॉप-ऑफ सेवा के टिकट कालका-शिमला नैरोगेज सैक्‍शन के सभी स्‍टेशनों से जारी किया जाएगा.

उन्‍होंने आगे स्‍पष्‍ट किया कि इस सेवा को चुनने वाले यात्री ट्रेन में अन्‍य भुगतान/मूल्‍यवर्धित सेवाओं का लाभ उठाने के हकदार नहीं होंगे. हॉप-ऑन हॉप-ऑफ टिकट अहस्‍तांतरणीय और अप्रतिदेय है और इस पर कोई रियायत नहीं दी जाएगी

इस सुविधा का टिकट खरीदने के लिए यात्री को एक वैध पहचान-पत्र जैसे वोटर कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राईविंग लाइसेंस, सरकारी प्रमाण-पत्र और किसी संस्‍थान द्वारा जारी छात्र प्रमाण-पत्र प्रस्‍तुत करना होगा.

यात्री को यात्रा के दौरान उस प्रमाण-पत्र की मूल प्रति अपने साथ रखनी होगी और मांगे जाने पर दिखानी होगी. ऐसा न कर पाने वाले यात्रियों को बिना टिकट माना जाएगा और उनसे मौजूदा रेल नियमों के अनुसार प्रभार वसूला जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here