भारत में,कोरोना से एक दिन में 6148 लोगों की मौत, बिहार की गलती से बढ़ी संख्या

0
265
भारत में,कोरोना से एक दिन में 6148 लोगों की मौत, बिहार की गलती से बढ़ी संख्या

नई दिल्ली. भारत में कोरोना के मामलों मेंं कमी जारी है हालांकि मौतों का आंकड़ा अब भी 2 ,000 के पार है. लेकिन गुरुवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय  द्वारा जारी आंकड़ों में मृतकों की संख्या 6,418 बताई गई है जिसके बाद लोगों की चिंता बढ़ गई है. हालांकि मंत्रालय ने बताया है कि बीते 24 घंटे में 2,187 लोगों की मौत हुई है लेकिन बिहार राज्य द्वारा मौतों की संख्या अपडेट करने के बाद यह संख्या 6,000 के पार चली गई.

बताया गया कि बुधवार को देश में महामारी से 2,187 लोगों की मौत हुई लेकिन कल के डेटा में 6,138 मौतें रिकॉर्ड की गईं. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि बिहार में पिछले दिनों हुईं 3,951 मौतों को अपडेट किया गया है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए संशोधन के बाद बिहार में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढकर 9,429 हो गई जो मंगलवार को 5458 थी. स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण से बुधवार तक मरने वालों की 5478 की संख्या के अलावा सत्यापन के बाद अतिरिक्त 3,951 अन्य लोगों की मौत के आंकडे जोडे गए हैं.

ये अतिरिक्त मौतें कब हुईं?

विभाग द्वारा जारी आंकडे में यह नहीं बताया गया है कि ये अतिरिक्त मौतें कब हुईं लेकिन प्रदेश के सभी 38 जिलों का एक ब्रेकअप उल्लेखित किया गया है. ताजा आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 8,000 के करीब है और अप्रैल से मरने वालों की संख्या में लगभग छह गुना वृद्धि हुई है.
बिहार में कोरोना से प्रदेश की राजधानी पटना में कुल 2303 मौतें हुईं हैं जबकि मुजफ्फरपुर जिला 609 मौतों के साथ दूसरे नंबर पर है. सत्यापन के बाद पटना में सबसे अधिक 1070 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं. इसके बाद बेगूसराय में 316, मुजफ्फरपुर में 314 और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पैतृक नालंदा में 222 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं.

दिलचस्प बात यह है कि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद ठीक होने वालों की संख्या मंगलवार को 701234 बतायी थी जिसे बुधवार को संशोधित करके 698397 कर दिया गया है. बिहार में कोरोना वायरस के मरीजों के ठीक होने का प्रतिशत मंगलवार को जहां 98.70 प्रतिशत बताया गया था उसे बुधवार को संशोधित करके 97.65 प्रतिशत कर दिया गया है.

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आंकडों में संशोधन किये जाने के बाद विपक्ष को सरकार पर निशाना साधने को एक नया अवसर मिल जाएगा. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बिहार में एक महीने से अधिक समय तक लॉकडाउन के बाद कोरोना संक्रमण के मामलों के कमी आयी है और बुधवार को केवल 20 मौतें और 589 नए मामले प्रकाश में आए हैं. बिहार में बुधवार को 18 से 44 वर्ष और 45 वर्ष से ऊपर सहित 121780 लोगों ने कोविड-19 रोधी टीका लिया और प्रदेश में अबतक 11472029 लोग टीका ले चुके हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here