भारत में,मोदी सरकार की आंखों की किरकिरी बने रघुराम राजन पर स्टालिन को भरोसा, बनाया आर्थिक सलाहकार

0
246

भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन को तमिलनाडु की आर्थिक मुद्दों की सलाहकार समिति का प्रमुख बनाया गया है।

तमिलनाडु में डीएमके के नेतृत्व में नई यूपीए सरकार के गठन के साथ ही आर्थिक सलाहकार परिषद का गठन किया गया है

जिसमें दुनिया भर के जाने माने आर्थिक विशेषज्ञों को इसका हिस्सा बनाया जाएगा। तमिलनाडु के आर्थिक विकास के लिए ये समिति ब्लू प्रिंट बनाएगी।

इस आर्थिक सलाहकार परिषद ने तय किया है कि वर्तमान में तमिलनाडु की वास्तविक वित्तीय स्थिति क्या है, इसका आंकलन किया जाएगा और इसकी विस्तृत रिपोर्ट जुलाई में जारी कर दी जाएगी, ताकि इसके बाद प्रदेश के विकास की कार्ययोजना बनाई जा सके.

पूर्व गर्वनर रघुराम राजन को इस आर्थिक सलाहकार परिषद में शामिल किया है जिस पर तरह तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

तमिलनाडु के जाने माने पत्रकार राधाकृष्णा आरके ने ट्वीट करते हुए कहा है कि “भारत का नुकसान तमिलनाडु के लिए लाभ हो गया है. रघुराम राजन आर्थिक मुद्दों पर तमिलनाडु को सलाह देने वाली समिति के प्रमुख हो गए हैं.”

रघुराम राजन भारत ही नहीं विश्व भर के जाने माने अर्थशास्त्रियों में अपना अहम स्थान रखते हैं लेकिन केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को वो फूटी आंखों नहीं सुहाते क्योंकि वो पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की पसंद थे।

देश आज जिस प्रकार से आर्थिक दुर्दशा का शिकार हो गया है। महंगाई, बेरोजगारी लगातार बढ़ती ही जा रही है, वैसे दौर में रघुराम राजन जैसे लोगों की सलाह पर ही देश की आर्थिक नीतियां तैयार होनी चाहिए थी पर ऐसा हो नहीं रहा।

आज जब रघुराज राजन को पूरे देश के लिए काम करते हुए लोग देखना चाहते हैं तो उनकी भूमिका देश के एक राज्य तक सीमित हो गई है।

इसे रघुराम राजन का बड़प्पन ही माना जाना चाहिए कि भारत जैसे बड़े देश के लंबे समय तक गर्वनर रहने के बावजूद उन्होंने तमिलनाडु आर्थिक विकास परिषद का प्रमुख बनना स्वीकार किया।

रघुराम राजन ने पिछले दिनों ही कहा था कि देश में कोरोना की दूसरी लहर के लिए लीडरशिप और दूरदर्शिता की कमी जिम्मेवार है।

राजन ने मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए कहा था कि आत्ममुग्धता भारत को आज भारी पड़ रहा है। आत्ममुग्ध सरकारें देश का भला नहीं कर सकतीं।

वैसे भी जिस सरकार के पास आर्थिक मुद्दों पर सलाह देने के लिए रामदेव, श्री श्री रविशंकर जैसे परम ज्ञानी अर्थशास्त्री विशेषज्ञ पहले से मौजूद हो, वहां पर रघुराम राजन का क्या काम 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here