राहुल गांधी ने टि्वटर पर अपने पुराने दोस्त ज्योतिरादित्य सिंधिया को किया अनफॉलो, जानिए वजह

0
207
राहुल गांधी ने टि्वटर पर अपने पुराने दोस्त ज्योतिरादित्य सिंधिया को किया अनफॉलो, जानिए वजह

भोपाल. कभी करीबी दोस्त माने जाने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बीच अब दूरियां और बढ़ गई हैं. सिंधिया के दल बदलने के बाद भी राहुल गांधी का सिंधिया प्रेम बार-बार उभर कर सामने आ रहा था, लेकिन हाल की एक घटना के बाद अब दोनों नेताओं के रास्ते पूरी तरह अलग-अलग नजर आ रहे हैं. पूरा मामला राजीव गांधी की पुण्यतिथि से जुड़ा हुआ है.  दरअसल, कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को आधुनिक भारत का निर्माता और भारत रत्न कहकर संबोधित संबोधित किया था, लेकिन बाद में अपने पहले ट्वीट में सुधार करते हुए दूसरा ट्वीट कर राजीव गांधी के साथ भारत रत्न और आधुनिक भारत का निर्माता जैसे शब्दों को हटा लिया था.

बताया जा रहा है कि बीजेपी की आपत्ति के बाद सिंधिया ने पहला ट्वीट डिलीट किया था. सिंधिया ने पहले ट्वीट में सुधार कर दूसरा ट्वीट किया. दूसरे वाले ट्वीट में राजीव गांधी को भारत रत्न और आधुनिक भारत के निर्माता जैसे शब्दों को हटा लिया गया. बताया जा रहा है कि सिंधिया के इस कदम से राहुल गांधी खासे नाराज हुए और यही कारण रहा कि राहुल गांधी ने सिंधिया को अपने ट्विटर से अनफॉलो कर दिया.

हालांकि, इससे पहले राहुल गांधी ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर नरम रुख जाहिर कर चुके थे. राहुल ने सिंधिया को लेकर कहा था कि यदि सिंधिया कांग्रेस में होते तो मुख्यमंत्री बन गए होते. राहुल ने सिंधिया को बीजेपी में जाकर बैक वेंचर होने की बात कही थी और यह भी कहा था कि मुझे पता है कि वह एक दिन जरूर लौटकर आएंगे. पर सिंधिया के एक ट्वीट के बाद अब दोनों नेताओं के बीच का प्रेम दूरियों में बदलता हुआ नजर आ रहा है. यही कारण है ज्योतिरादित्य को फॉलो करने वाले राहुल गांधी ने अब उन्हें ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया है.

राहुल गांधी के सिंधिया को ट्विटर पर अनफॉलो करने के मामले में कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी दोनों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने ट्विटर हैंडल से अनफॉलो कर दिया है. यह बहुत पहले हो जाना चाहिए था बलिदानी परिवार किसी गद्दार का साथ दें, यह कभी हो नहीं सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here