5 साल तक 13 स्कूली छात्राओं का बलात्कार करता रहा प्रिंसिपल, पीड़ितों से 9 बच्चे भी जन्मे

0
332

इंडोनेशिया में एक हाईकोर्ट ने इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल के प्रिंसिपल को मौत की सजा सुनाई है. प्रिंसिपल पांच साल में कम से कम 13 स्कूली छात्राओं से बलात्कार का दोषी साबित हुआ है. इनमें अधिकतर छात्राएं गर्भवती तक हो गईं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हेरी विरावन (Herry Wirawan) को इस साल फरवरी में बांडुंग डिस्ट्रिक्ट कोर्ड के तीन जजों के पैनल ने बलात्कार के मामले में दोषी ठहराया और उम्र कैद की सजा सुनाई

पीड़ितों में 11 से 14 वर्ष की छात्राएं शामिल

हेरी विरावन पर पश्चिम जावा शहर के स्कूल, होटल और किराए के अपार्टमेंट में साल 2016 से 2021 तक छात्राओं (11 से 14 वर्ष) से बलात्कार करने का आरोप लगा. इस दौरान अधिकतर लड़कियां गर्भवती तक हो गईं और कम से कम नौ बच्चों का जन्म हुआ. छात्राओं संग बलात्कार की ये घटना जब सार्वजनिक हुई तो आम लोगों ने खूब हंगामा किया. बताया गया कि कई पीड़ित सालों तक प्रिंसिपल की हवस का शिकार होती रहीं. पुलिस ने बताया ने पीड़िता इतनी डरी हुई थीं कि वो कुछ बता पाने की स्थिति में भी नहीं थीं.

कोर्ट ने उम्र कैद को मौत की सजा में बदला फैसला

बाद में बांडुंग हाईकोर्ट के जजों ने बीते सोमवार को फैसले में प्रासीक्यूटर की अपील सहमति जताते हुए दोषी की उम्र कैद को मौत की सजा में बदल दिया. उसकी सारी संपत्ति जब्त करने का भी आदेश दिया. कोर्ट के फैसले पर इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल ने कहा कि हेरी विरावन ने शिक्षण संस्थान की प्रतिष्ठा को धूमिल किया. वहीं कोर्ट ने बीते मंगलवार को अपनी वेबसाइट पर जारी फैसले में कहा, ‘उसने जो कुछ किया वो पीड़ितों और उनके परिजनों को आघात और पीड़ा का कारण बना

दोषी की संपत्ति पीड़ितों को देना का भी आदेश दिया

दूसरी तरफ निचली अदालत ने इंडोनेशिया के बाल संरक्षण मंलात्रय को दोषी की संपत्ति जब्त करने के बजाय इसे पीड़ितों को देने का आदेश दिया. कोर्ट ने ये भी कहा कि पीड़ितों से पैदा हुए नौ बच्चों को महिला सुरक्षा एजेंसी को सौंप देना चाहिए, जब तक पीड़ित अपने बच्चों की देखभाल के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं हो जाते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here