Bihar News : कोरोना के प्रकोप के बीच शादी बनी मातम, दो हफ्तों में दुल्हन का सुहाग उजड़ा

0
307
Bihar News : कोरोना के प्रकोप के बीच शादी बनी मातम, दो हफ्तों में दुल्हन का सुहाग उजड़ा

कुछ राज्यों में साफ निर्देश रहे कि लॉकडाउन के समय में शादियां प्रतिबंधित होंगी. बिहार सरकार (Bihar Government) और सीएम ने भी इस तरह की अपील की लेकिन.. जानिए कैसे इस सलाह को न मानना एक परिवार के लिए महंगा पड़ा.

गोपालगंज. कोरोना की दूसरी लहर के बीच शादी समारोह करना दूल्हे के लिए जानलेवा साबित हुआ और मेहंदी छूटने से पहले दुल्हन का सुहाग उजड़ गया. मृतक दूल्हा नवविवाहित शिक्षक था, जिसकी कोरोना से मौत हो गई. कोविड 19 महामारी की चपेट में देश के साथ ही प्रदेश भी है और संक्रमण को कम करने के लिए लॉकडाउन लगाया गया. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी लोगों से शादी के सामूहिक आयोजनों को टालने की अपील की थी, लेकिन अपील और नियमों की परवाह किए बगैर ऐसे आयोजनों का सिलसिला जारी है.

जानकारी के मुताबिक ताज़ा मामला कटेया के रुद्रपुर गांव का है. रुद्रपुर निवासी और ज्ञानेश्वरी हाई स्कूल गौरा बाजार में अतिथि शिक्षक दुर्गेश पांडेय की शादी बीते 28 अप्रैल को पश्चिम चंपारण ज़िले के बगहा बनकटवा गांव की प्रियंका मिश्रा के साथ हुई थी. शादी के अगले दिन 29 अप्रैल को बारात लौटी, जिसके बाद से ही दुर्गेश को बुखार आने लगा

bihar news, bihar samachar, corona in bihar, marriages during corona, बिहार न्यूज़, बिहार समाचार, बिहार में कोरोना, कोरोना काल में शादी

दुर्गेश का इलाज स्थानीय स्तर पर करवाया गया लेकिन उसकी गंभीर हालत को देखते हुए 5 मई को उसे गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया. इलाज के दौरान 15 मई को उसकी मौत हो गई. उसकी मौत की खबर सुनते ही परिजनों के साथ ही पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया. स्थानीय मुखिया और परिजन आनन-फानन में गोरखपुर पहुंचे, लेकिन कोरोना प्रोटोकाल के तहत ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

बताया जा रहा है कि नवविवाहिता प्रियंका की हालत भी खराब हो रही है. वहीं, पूरा परिवार विचलित है. साथ ही इलाके के जानकारों ने सलाह दी है कि बारात में शामिल सभी लोगों को कोरोना टेस्ट करवाना चाहिए और लक्षण दिखने पर आइसोलेट होना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here